संगीत का कोई मज़हब, कोई ज़बान नहीं होती। 'रेडियोवाणी' ब्लॉग है लोकप्रियता से इतर कुछ अनमोल, बेमिसाल रचनाओं पर बातें करने का। बीते नौ बरस से जारी है 'रेडियोवाणी' का सफर।

Wednesday, August 4, 2010

देखिए लता मंगेशकर ले रही हैं किशोर कुमार का इंटरव्‍यू।

आज 4 अगस्‍त है। किशोर कुमार का जन्‍मदिन।

किशोर दा के अनमोल गाने सुनवाने की इच्‍छा थी पर व्‍यस्‍तताएं इजाज़त नहीं दे रही हैं। वैसे भी गाने तो आप हर कहीं सुन सकते हैं। रेडियोवाणी की इस माइक्रो-पोस्‍ट में यू-ट्यूब से उड़ाया गया ये वीडियो देखिए जिसमें लता मंगेशकर किशोर कुमार का इंटरव्‍यू ले रही हैं।



किशोर दा को रेडियोवाणी का नमन।




और हां। आज दिन भर विविध-भारती पर हैं किशोर दा के गाने। रात दस बजे मेरे साथ सुनिए छायागीत में किशोर कुमार के कुछ अनसुने-अनजान हुड़दंगे पुराने गाने।

 




-----

अगर आप चाहते  हैं कि 'रेडियोवाणी' की पोस्ट्स आपको नियमित रूप से अपने इनबॉक्स में मिलें, तो दाहिनी तरफ 'रेडियोवाणी की नियमित खुराक' वाले बॉक्स में अपना ईमेल एड्रेस भरें और इनबॉक्स में जाकर वेरीफाई करें। 

15 comments:

Raviratlami August 4, 2010 at 10:08 AM  

सूचना के लिए धन्यवाद. हमने रेडियो विविध भारती ट्यून कर लिया है.
दूसरा, कुछ लाबीइंग करें कि विविध भारती इंटरनेट पर स्ट्रीमिंग के रूप में आए. साथ ही बीएसएनएल की आईपीटीवी में भी पैकेज में आए.

पंकज सुबीर August 4, 2010 at 12:36 PM  

आज की सुब्‍ह को सुब्‍ह बनाने के लिये आपका आभार यूनुस भाई । दो महान शख्सियतों को बात करते हुए सुनने का एक निराला ही अनुभव था ।

Anonymous,  August 4, 2010 at 1:12 PM  

अच्छा रहा. शुक्रिया !
किशोर दा को नमन !
अन्नपूर्णा

बी एस पाबला August 4, 2010 at 1:25 PM  

एक निराला ही अनुभव

आपका आभार

ताऊ रामपुरिया August 4, 2010 at 7:26 PM  

बहुत खूबसूरत जी, शुभकामनाएं.

रामराम

प्रवीण पाण्डेय August 4, 2010 at 8:15 PM  

किशोर दा को स्वभाव अभी तक उनके गीतों के माध्यम से ही जाना है, पहली बार यह सुना। ढेर आभार।

cinemanthan August 6, 2010 at 12:38 PM  

बहुत अच्छी बातचीत है ये

अभिषेक ओझा August 7, 2010 at 6:01 AM  

ओह ! ये वीडियो तो पहले देखा ही नहीं कभी.

PIYUSH MEHTA-SURAT August 8, 2010 at 5:18 PM  

श्री अमीन सायानी साहब के फिल्मी मूकद्दमें में और एक सरदर्द की टिकीयाँ बनानेवाली कम्पनी के श्री अमीन सायानी साहब द्वारा ही प्रस्तूत प्रायोज़ित कार्यक्रममें तथा शायद ब्रूकबॉन्ड इन्डीया के प्रायोजित रेडियो कार्यक्रममें किशोरदा को सुननेका अवसर मिला था । पर यहाँ तो उनको सुनने और अपनी निज़ी बात करत्र हुए देख़ने का दोहरा मोका प्राप्त हुआ । युनूसजी को बधाई । साथमें बीच बीचमें श्री हरीष भिमाणीजी को सुनना भी अच्छा लगा ।
पियुष महेता ।
सुरत \

दिलीप कवठेकर August 9, 2010 at 1:27 AM  

यूनुस भाई, धन्यवाद!!!

सभी चीज़ें अंतरजाल पर उपलब्ध हैं, मगर आप विशेषतः हमारे लिये चुन कर मोती लाते हैं,इसलिये हम सभी शुक्रगुज़ार हैं.

परदेस में आपका विविध भारती पर कार्यक्रम सुन नहीं सका इसका रंज ज़रूर रहा, मगर वापस आकर आज आपका छाया गीत सुना तो कुछ राहत मिली.

Himanshu Mohan September 1, 2010 at 10:09 AM  

किशोर'द और आर0डी0 - ये तो फ़िलम संगीत के गॉड्स हैं हमारे लिए।
आप ने तीर्थ करा दिया। हाजी बनाने का शुक्रिया यूनुस साहब। आपकी वजह से लगता है विविध-भारती से फिर जुड़ाव हो जाएगा।

किशोर दा की ज़िन्दगी के हसीन लम्हों में से एक वो भी था जब सर्वश्रेष्ठ पार्श्वगायन (पुरुष) के लिए फ़िल्मफ़ेयर अवार्ड में एक साथ उनको और उनके बेटे अमितकुमार को नामित किया गया था। अमित नामित थे - "ये ज़मीं गा रही है - आसमाँ गा रहा है" के लिए "तेरी कसम" से और किशोर'दा "पग घुँघरू बाँध" के लिए - "नमक हलाल" से। यह बताने की शायद ज़रूरत नहीं है कि अवॉर्ड तो ख़ैर किशोर'दा ही जीते - मगर वे इस अवॉर्ड से ज़्यादा ख़ुश इस बात से थे कि बेटे के साथ नामित थे - और उनका कहना था कि अगर "अमित जीतता तो मुझे और ज़्यादा ख़ुशी होती"। वाकई अमित ने यह गाना बहुत ख़ूब गाया था।

बहुत उम्दा पोस्ट - "माइक्रो"

Dr. Kedar September 4, 2010 at 9:20 PM  

वाह... मज़ा आ गया...अद्भूत... धन्यवाद युनुसजी ....

Satish Chandra Satyarthi December 18, 2010 at 11:45 PM  

मन प्रसन्न कर दिया युनुस भाई ..
ह्रदय से धन्यवाद आपको..

निर्मला कपिला December 20, 2010 at 10:01 AM  

आपको जन्म दिन की हार्दिक शुभकामनायें।

कविता रावत December 20, 2010 at 5:57 PM  

bahut sundar prastuti
aapko janamdin kee bahut bahut haardik shubhkamnayen..

Post a Comment

if you want to comment in hindi here is the link for google indic transliteration
http://www.google.com/transliterate/indic/

Blog Widget by LinkWithin
.

  © Blogger templates Psi by Ourblogtemplates.com 2008 यूनुस ख़ान द्वारा संशोधित और परिवर्तित

Back to TOP